अल्लम गल्लम

इस पृष्ठ पर प्रदर्शित क्रम वह है  जो मेरे व्यंग्य संग्रह : अल्लम गल्लम  :  में संकलित है ।

 कोष्ठक मे दिया गया क्रम वह है व्यंग्य सूची : पर प्रदर्शित है और लिंक लगा दिया गया है ।


1 धर्मक्षेत्रे कुरुक्षेत्रे [54]

2 आँख दिखाना [53]

3 वैलेन्टाइन डे-उर्फ़ प्याज पकौड़ी चाय [64]

4 भैंस के आगे बीन बजाना [19]

5 ’छ’-की छकास [21]

6 हुनर सीखो [23]

7 आलू-प्याज टमाटर [24]

8 राम-रहीम-इन्सान [26]

9 साधु और बिच्छू [27]

10 कछुआ और खरगोश [28]    

11 सप्रेम भेंट [29]

12 मैढक और बैल [30]

13 गिद्ध दृष्टि [31]

14 चुनावी जुमला [32]

15 चार लाठी [33]

16 यू-टर्न [34]

17 इवेन्ट मैनेजमेन्ट [35]

18 हाथ का मैल [36]

19 मान-सम्मान [37]  

20 शान्ति भंग [38]    

21 अवसाद में हूँ [40]

22 तमसो मा ज्योतिर्गमय [41]

23 बेहाल पच्चीसी [43]

24 मुजरिम हाज़िर हो [44]

25 सबूत चाहिए [45]

26 खाट-खटमल-खून [46]

27 अन्तरात्मा की पुकार [47]

28 एक लघु चिन्तन देश हित में[48]  

29 रिटायरोपरान्त प्रथम दिवसे [50]   

30 तालाब –मेढक—मछलियाँ [59]

31 --बैठ निठल्लम [65]

---समाप्त--




कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें